Thu. Aug 11th, 2022

किस्मत को था कुछ और मंजूर देवदूत बन पुलिस ने बचाई जान

बिलासपुर-[जनहित न्यूज़] एक बेबस माँ ने अपने बच्चे को जहर पिला दिया और खुदकुशी की कोशिश की। किस्मत से पुलिस ने देवदूत बनकर मां बेटे की जान बचा ली। मिली जानकारी के अनुसार रायगढ़ में रहने वाली मिथिला चौहान के पति का देहांत हो चुका है। बिलासपुर के तोरवा पुराना पावर हाउस के करीब रहने वाली मिथिला मजदूरी करके अपने 6 बरस के बेटे अनमोल और खुद का गुजारा कर ही थी। लेकिन लॉकडाउन ने यह जरिया भी छीन लिया। लॉक डाउन के शुरुआती दिनों में तो प्रशासन और दानदाताओं ने इन जैसे लाचारों की मदद की लेकिन धीरे-धीरे यह दौर भी खत्म हो गया। गायब हो गई। दोनों के सामने भूखे मरने की स्थिति आ गई थी ।


आर्थिक तंगी से जूझती मां का हृदय भी पथरा गया और उसने 6 साल के बेटे को जहर पिलाया और खुद ने भी जहर पी लिया। लेकिन कुदरत को यह मंजूर न था। मामले की खबर तोरवा पुलिस को मिली तो। थाना प्रभारी परिवेश तिवारी ने तुरंत सत्य कुमार पाटले और शैलेंद्र दिनकर को मिथिला चौहान के घर भेजा, जिन्होंने मां और बेटे दोनों को बेसुध हालात में पाया। फौरन उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया। जहां डॉक्टरों ने उन्हें बचा लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.