Wed. Jul 24th, 2024

नीट की परीक्षा में धांधली का आरोप सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में जांच की मांग…

09 जून 2024


बिलासपुर-[जनहित न्यूज़] 04 जून 2024 को पूरे देश में नीट की परीक्षा का परिणाम घोषित किया गया है जिसमे अनेकों तरीक़े की धाँधली हुई है। बिलासपुर प्रेस क्लब में पहुंचे भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष लक्की शुशांक मिश्रा का कहना है कि जो नीट की परीक्षा परिणाम सामने आया हैं उससे पूरे देश के छात्रों में आक्रोश का माहौल है। अभी तक अनेकों छात्र छात्राएँ आत्मदाह कर चुके हैं और इनका निष्पक्ष रूप से जाँच नहीं करना आत्मदाह का कारण बन रहा है। लगभग पूरे देश में 24 लाख छात्र छात्राएँ परीक्षा में बैठे थे जिसमें छत्तीसगढ़ के लगभग 50 हज़ार परीक्षार्थी नीट ug 2024 की परीक्षा में बैठे थे। परीक्षा परिणाम स्वरूप एनएसयूई का सवाल यह है कि NTA ने 1563 छात्रो को ग्रेस मार्क्स दिए इसका आधार क्या है और इसे स्पष्ट किया जाए। यदि ग्रेस मार्क्स का प्रावधान बनाया गया है तो यह देश के छात्रों को सूचित क्यों नहीं किया गया है। हमारा आरोप यह भी है कि नीट का पेपर 720 अंक का होता है हर सवाल के 4 अंक होते हैं हर गलती के एक अंक कटते हैं अगर ऐसे में कोई एक सवाल छोड़ देता है तो उसे 716 अंक मिलेगा यदि कोई एक सवाल ग़लत करता है तो उसे 715 अंक मिलेगा ऐसे में 718 और 719 अंक पाना असंभव है। ऐसी बड़ी त्रुटियां इन्होंने नीट की परीक्षा में अनेकों की है जिसका साक्ष्य है।


1- पूरे देश में 67 छात्रों का नंबर सेम आया है। जो कि असंभव है।
2- पूरे देश में एक ही केंद्र के पाच छात्रों का नंबर से कैसे आया और रोल। नंबर आगे पीछे कैसे हुआ जबकि नाम अल्फा बेट आगे पीछे था ( अंजलि , जानवी, प्रतीक, यश, विशाल)
3- जब ऐसा कोई नियम है ही नहीं तो ग़्रेस मार्क्स कैसे मिला।
4- हर वर्ष 15 दिन पहले उतर पुस्तिका जारी होने के बाद रिजल्ट आता था इस बार दो दिन में रिजल्ट आ गया।
5- उत्तर प्रदेश हरियाणा बिहार राजस्थान जैसे राज्यों के सबसे ज़्यादा लोग पेपर लीक कांड में अभी भी हिरासत में है।
6- पूरे देश के 25 लाख छात्रों का भविष्य अंधकार में है जिसमें हमारे प्रदेश छत्तीसगढ़ के 45-50000 बच्चे भी शामिल हैं।
7- नीट की परीक्षा की एवरेज फ़ीस 1500 है। 25 लाख छात्रो कि अगर एवरेज फ़ीस की पेमेंट देखी जाए तो कल 375 करोड़ का फ़ीस भुगतान नीट 2024 के लिए छात्रो द्वारा किया गया है।


8 नीट 2024 की परीक्षा रद्द की जाए हम आपको जानकारी देना चाहते है भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन यह माँग करती है कि जो नीट की परीक्षा में धाँधली हुई है उसकी निष्पक्ष जाँच कराई जाये। सुप्रीम कोर्ट के संज्ञान में एस आई टी गठित कर जाँच कराई जाये जिससे छात्रो को न्याय मिल सके। आपकी तरफ़ से 5 दिनों में संतुष्ट रूप से जवाब नहीं आने पर NSUI पूरे ज़िले में उग्र आंदोलन करेगी।